लोकसभा चुनाव 2019: संशय बरकरार भागलपुर सीट से एनडीए के उम्मीदवार के बारे में

लोकसभा चुनाव की तारीख का ऐलान होने के साथ ही भागलपुर सीट को लेकर एनडीए के घटक दलों में सरगर्मी बढ़ गयी है। इस सीट पर जदयू के दावे के बाद स्थितियां थोड़ी बदल गयी हैं।

एक तरफ जदयू ने अंदर ही अंदर इस सीट पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली है तो दूसरी तरफ भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन और पार्टी कार्यकर्ताओं की सक्रियता देख यह कहना थोड़ा मुश्किल हो रहा कि सीट किसके खाते में जायेगी।

चार फरवरी को भागलपुर में हुई जदयू की बैठक में लोकसभा सीट को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया गया था। जदयू ने इस सीट को लेकर प्रदेश संगठन प्रभारी परमहंस कुमार को ज्ञापन सौंपा था। संगठन प्रभारी ने इसपर गंभीरता से विचार करने और प्रदेश नेतृत्व के समक्ष इस प्रस्ताव को रखने का आश्वासन दिया था।

भागलपुर और बांका में एक सीट मिलेगी, भाजपा दोनों पर हारी थी

भागलपुर की सीट पर संशय इसलिए भी है क्योंकि बांका और भागलपुर में भाजपा के हिस्से एक सीट लग सकती है। दोनों सीट की बात की जाये तो 2014 के लोकसभा चुनाव में दोनों ही सीट पर भाजपा कम अंतर से चुनाव हारी थी। भागलपुर में भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन राजद के बुलो मंडल से 9485 वोट से हार गये थे जबकि बांका में राजद प्रत्याशी जयप्रकाश नारायण यादव ने भाजपा की पुतुल कुमारी को 10144 मतों से हराया था। उधर राजद बुलो मंडल की ही जाति के नये उम्मीदवार की तलाश में है। लेकिन नया चेहरा सामने नहीं आने की वजह से बुलो मंडल की उम्मीदवारी राजद से तय मानी जा रही है।

गणित को ले जदयू कर रहा दावा

बिहार में एनडीए में सीट बंटवारे की बात की जाये तो अभी तक जो बातें सामने आयी हैं उसके अनुसार कुल 40 सीटों में भाजपा और जदयू 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। भाजपा ने 2014 लोकसभा चुनाव में राज्य में 22 सीटें जीती थी। अब अगर भाजपा को 17 सीटें मिलती हैं तो जीती हुई पांच सीट पार्टी को छोड़नी होंगी। भागलपुर भाजपा की हारी हुई सीट है इसलिए यहां पार्टी का दावा थोड़ा कमजोर दिख रहा। यही वजह है कि जदयू ने इस सीट पर अपना दावा सामने रख दिया है।

इस संबंध में जदयू प्रदेश संगठन प्रभारी परमहंस कुमार ने बताया कि भागलपुर सीट को लेकर हम गंभीर हैं। भागलपुर के पार्टी कार्यकर्ताओं ने इस सीट पर चुनाव लड़ने को लेकर प्रस्ताव दिया था जिससे प्रदेश नेतृत्व को मैंने अवगत करा दिया था। हम उम्मीद कर रहे हैं कि यह सीट जदयू को मिलेगी। एक दो-दिन में सब साफ हो जायेगा।

वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा- अभी इसपर क्या कह सकता हूं। एनडीए में जिस पार्टी के हिस्से में भागलपुर सीट आयेगा उस पार्टी के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे। मैं अपने स्तर से कुछ नहीं कहूंगा, उपर से जो तय होगा वह सभी को मान्य होगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.