सरपंच ने साथियों संग मिलकर नौजवान को उतारा मौत के घाट

लुधियाना: जातिसूचक शब्द और गालियां देने का विरोध करने पर गांव रुमी में सरपंच ने साथियों के साथ मिलकर 22 वर्षीय नौजवान मनमिंदर सिंह की हत्या कर दी। हमले में मनमिंदर के माता-पिता भी जख्मी हो गए। वारदात अंजाम देने के बाद आरोपी हवाई फायर करते हुए फरार हो गए। पुलिस ने हत्या, हत्या के प्रयास सहित कई धाराओं के तहत मामला दर्ज करके आरोपी सरपंच कुलदीप सिंह, यादविंदर सिंह, गुरजीत सिंह, जंटा सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी पंच गुरमीत सिंह मिंटू फिलहाल फरार है। मृतक के पिता जगविंदर सिंह ने बताया शनिवार शाम उनके घर के पास मकान बना रहे फौजी नगाइया सिंह से आरोपियों की रास्ते में पड़े सामान को लेकर कहासुनी हो गई थी।

इससे बौखलाए आरोपियों ने अपने साथियों को बुला लिया। वे नगाइया सिंह और मोहल्ले के लोगों को जातिसूचक शब्द और गलियां देने लगे। इस पर मनमिंदर सिंह ने उन्हें जातिसूचक शब्द कहने से मना किया तो आरोपी उस पर टूट पड़े। लोगों ने बीच बचाव कर मामला शांत करवा दिया। रात दस बजे के करीब आरोपियों ने मनमिंदर के घर के बाहर हवाई फायरिंग की और दरवाजे तोड़कर अंदर घुस गए। उन्होंने मनमिंदर पर तेजधार हथियारों से हमला किया, जिससे उसकी मौत हो गई। थाना सदर के प्रभारी किकर सिंह ने बताया कि आचार संहिता लागू होने के बाद आरोपियों के पास जो भी लाइसेंसी हथियार थे,

उन्हें थाने में जमा कर लिया गया था। आरोपी गुरमीत सिंह के खिलाफ पहले भी नशा तस्करी का मामला दर्ज है। वह कुछ समय पहले ही जमानत पर बाहर आया है। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गांव के लोगों ने जगरांव रायकोट हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस को तुरंत प्रभाव से रूट डायवर्ट करना पड़ा। प्रदर्शनकारी मांग कर रहे थे कि चुनाव होने के बावजूद आरोपियों ने हथियार अपने पास रखे थे। पुलिस उन पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज करे। देर रात तक धरना जारी था। भीड़ ने मिंटू के घर को आग लगाने की कोशिश की। पुलिस अधिकारियों ने लोगों को शांत कराया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.