कामयाबी : उड़ान भरी दुनिया के सबसे बड़े विमान ने

दुनिया के सबसे बड़े विमान स्ट्रैटोलॉन्च ने शनिवार को कैलिफोर्निया में पहली बार उड़ान भरी। इसका परीक्षण करीब ढाई घंटे तक मोजावे रेगिस्तान के ऊपर किया गया। इसमें छह बोइंग 747 इंजन लगे हैं। विमान के पंख का फैलाव एक फुटबॉल मैदान से भी ज्यादा है।

स्ट्रेटोलॉन्च नामक कंपनी ने इसे बनाया है। ये कंपनी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर निर्माता कंपनियों में से एक माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक पॉल एलन ने 2011 में बनाया था। स्ट्रेटोलॉन्च ने डैनों की चौड़ाई के आधार पर इस दुनिया का सबसे बड़ा विमान कहा है। ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रेंसन की कंपनी वर्जिन गेलेक्टिक ने भी ऐसा विमान बनाया है जो ऊंचाई से अंतरिक्ष की कक्षा में रॉकेट भेज सकता है।

पायलट ने अद्भुत बताया

विमान उड़ान वाले पायलट इवन थॉमस ने पत्रकारों से कहा कि यह अद्भुत था और जैसी उम्मीद की गई थी विमान उसी तरह से उड़ा। स्ट्रेटोलॉन्च की वेबसाइट के अनुसार, जिस तरह से आज व्यावसायिक उड़ान पकड़ना आम बात है उसी तरह से अंतरिक्ष की कक्षा में जाना उद्देश्य है।

385 फीट लंबे विमान के पंख किसी फुटबॉल मैदान के जितने बड़े हैं

15 हजार फीट की ऊंचाई तक गया यह विमान अपनी पहली उड़ान में 

उपग्रह छोड़ने का खर्च घटेगा

  • विमान वास्तव में सैटेलाइट के लॉन्च पैड के रूप में तैयार किया गया है
  • यह रॉकेट और उपग्रहों को अंतरिक्ष में कक्षा तक पहुंचाने में मदद करेगा
  • योजना सफल रही तो सैटेलाइट छोड़ने का खर्च भी कम हो जाएगा

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.