अमेरिका का अहम फैसला, 2020 के लिए 65,000 तक सीमित की H-1B visa की संख्या

अमेरिका ने वित्त वर्ष 2020 के लिए भारतीयों, पेशेवरों समेत विदेशी नागरिकों को लोकप्रिय एच-1 बी वीजा दिए जाने की संख्या 65,000 तक सीमित कर दी है। एच-1 बी वीजा गैर-प्रवासी वीजा है जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों को खासतौर से तकनीकी विशेषज्ञता वाले पेशों में नौकरी देने की अनुमति देता है। तकनीकी कंपनियां भारत और चीन जैसे देशों से हर साल हजारों कर्मचारियों की भर्ती करने के लिए इस वीजा पर निर्भर रहती हैं।

वीजा के आवेदनों को मंजूरी देने के काम से जुड़ी संघीय एजेंसी अमेरिकी नागरिकता एवं प्रवासी सेवा (यूएससीआईएस) ने शुक्रवार को कहा, ”उसे वित्त वर्ष 2020 के लिए कांग्रेस द्वारा एच-1बी वीजा के लिए सीमित की गई 65,000 की संख्या के लिए पर्याप्त आवेदन मिल चुके हैं।”

वित्त वर्ष एक अक्टूबर 2019 से शुरू होगा और यूएससीआईएस को एक अप्रैल से वीजा के आवेदन मिलने शुरू हो गए हैं। बहरहाल, एजेंसी ने यह नहीं बताया कि उसे पहले पांच दिनों में कितने आवेदन मिले।

वहीं दूसरी ओर अमेरिका में घुसने की कोशिश करने वाले भारतीयों की गिरफ्तारी में कमी आयी है। कैलिफोर्निया में अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर कंक्रीट की दीवार बनने के कारण इन गिरफ्तारियों में 56 फीसदी तक की कमी आयी है। एक शीर्ष अधिकारी ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को यह जानकारी दी। ट्रंप प्रशासन देश में अवैध प्रवासियों को आने से रोकने के लिए दक्षिण मैक्सिको सीमा पर दीवार बना रहा है।

डेल रियो सेक्टर के चीफ पेट्रोल एजेंट फेलिक्स शावेज ने शुक्रवार को कैलिफोर्निया में बातचीत के दौरान ट्रंप को बताया कि उनके क्षेत्र में फरवरी से अक्टूबर तक आठ महीनों में सीमा पर दीवार बनाई गई। राष्ट्रपति ने दीवार का निरीक्षण करने के लिए डेल रियो सेक्टर का दौरा किया। शावेज ने बताया कि दीवार बन जाने से दूसरे देशों के लोगों का अवैध प्रवेश 75 प्रतिशत तक कम हो गया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.